भारत की राजधानी क्या है? | Bharat Ki Rajdhani Kya Hai

Bharat Ki Rajdhani Kya Hai

” Bharat Ki Rajdhani Kya Hai? ” ये सवाल आपने अपने जीवन में कभी ना कभी सुना या पढ़ा तो जरूर होगा। लेकिन शायद आप इस सवाल का जवाब भूल चुके है इसी लिए आज आप यहां है। आज हम आपको बताएंगे कि हमारे देश यानी Bharat Ki Rajdhani Kya Hai. लेकिन किसी देश की राजधानी के बारे में जानने पहले ये जानना भी जरूरी है कि राजधानी होती क्या है? देश की राजधानी को देश का केंद्र या मुख्य आकर्षण कहा जाए तो यह गलत नही होगा।

किसी देश की राजधानी ही उस देश की संस्कृति, विकास, विचार, बल और छवि को दर्शाती है। क्योंकि उस जगह ही देश के सभी उच्च विभाग और सत्ता धारी निवास करते हैं। लेकिन जरूरी नही की कोई देश इन्हीं मानदंडों के आधार पर अपनी राजधानी चुने। कई बार किसी देश में हुई ऐतिहासिक घटनाओं या कार्यक्रमो को याद रखने और किसी जगह की भौगोलिक सुलभताएं देख कर भी कोई देश अपनी राजधानी किसी राज्य को चुन सकता है और अपने उच्च विभाग एन्व अपने प्रधानमंत्री / राष्ट्रपति / राजा का निवास वहां बना सकता है। किसी देश की राजधानी ही उसका सर्वोच्च राज्य होती है जहां उसके सभी सर्वोच्च विभाग स्तिथ होते हैं।

क्या होती है राजधानी?

साधारण भाषा में बोला जाए तो किसी देश की राजधानी उस देश का वो राज्य होता है जहां उसका शासक अर्थात उस देश के प्रधानमंत्री / राष्ट्रपति / राजा निवास करता है। किसी देश की राजधानी उसे ही कहा जाता है जहां उस देश की संसद, प्रधानमंत्री भवन, राष्ट्रपति भवन और अन्य उच्च विभाग एन्व केंद्र बने होते हैं।

भारत की राजधानी क्या है? (Bharat Ki Rajdhani Kya Hai)

दिल्ली को 13 फरवरी 1931 को भारत की राजधानी बनाया गया। और तब से लेकर वर्तमान तक Desh Ki Rajdhani दिल्ली ही है। असल में 12 दिसंबर 1911 को उस समय भारत के शासक किंग जॉर्ज V (Fifth) ने दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने की घोषणा की थी। उसके बाद कई ब्रिटिश आर्किटेक्ट्स ने इस शहर के निर्माण और विकास की योजना बनाई और इस योजना को पूरा करते करते 20 साल का समय गुजर गया उसके बाद 13 फरवरी 1931 को भारत की राजधानी “दिल्ली” को बनाया गया।

दिल्ली को ही क्यों बनाया गया राजधानी?

12 दिसंबर 1911 को उस समय भारत के शासक किंग जॉर्ज V (Fifth) ने दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने की घोषणा की थी और 13 फरवरी 1931 को भारत की राजधानी “दिल्ली” को बनाया गया। यह फैसला शासक किंग जॉर्ज V (Fifth) ने इसलिए लिया क्योंकि दिल्ली हमेशा से ही व्यापारिक, आर्थिक और राजनीतिक केंद्र रहा है। दिल्ली को कई शासकों ने अपना शासन केंद्र बनाया था। इसके अलावा शासक किंग जॉर्ज V (Fifth) ने ये फैसला इसलिए भी लिया क्योंकि भारत की उस समय की राजधानी कलकत्ता (कोलकाता) में विद्रोह और राष्ट्रवादी आंदोलन बढ़ते जा रहे थे। इसीलिए शासक किंग जॉर्ज V (Fifth) ने ये फैसला लिया।

दिल्ली की राजधानी क्या है?

हमारे Desh Ki Rajdhani जानने के बाद आपको ये भी जिज्ञासा होगी की दिल्ली की भी कोइ राजधानी है क्या? जिस प्रकार हर देश की अपने राज्यों में से एक राजधानी होती है उसी प्रकार हर राज्यो की अपने जिलों में एक राजधानी होती है। जैसे राजस्थान की राजधानी जयपुर है, उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ है इसी प्रकार दिल्ली की भी राजधानी है जिससे “नई दिल्ली” के नाम से जाना जाता है।

इलाहाबाद (प्रयागराज) को क्यों बनाया गया था एक दिन के लिए भारत की राजधानी?

भारत का इतिहास बहुत ही विशाल और फैला हुआ है। इसके जैसा विशाल इतिहास शायद ही किसी और देश का होगा। और इसी इतिहास में एक ऐसा दिन भी दर्ज है जब केवल एक दिन के लिए इलाहबाद (प्रयागराज) को भारत की राजधानी बनाया गया था। आज ये घटना सुनने में ही काल्पनिक सी लगती है लेकिन ये शतप्रतीशत वास्तविक घटना है। आपने 1857 की क्रांति के बारे में तो सुना ही होगा ये घटना घटित होने का कारण यही क्रांति थी। 1857 की क्रांति भयभीत होकर से ईस्ट इंडिया कम्पनी भारत का शासन ब्रिटिश राजशाही को सौप दिया और इसी कारण से आपातकालीन तौर पर इलाहबाद को एक दिन के लिए भारत की राजधानी बनाया गया।

दिल्ली के बारे में रोचक बातें!!
  • 12 दिसंबर 1911 को उस समय भारत के शासक किंग जॉर्ज V (Fifth) ने दिल्ली को भारत की राजधानी बनाने की घोषणा की थी उससे पहले दिल्ली 7 हिस्सो में बटा हुआ था जो इस प्रकार है –
    1. किला राय
    2. पिथौड़ा
    3. सिरी
    4. तुगलकाबाद
    5. जहांपनाह
    6. फिरोजशाह कोटला
    7. शेर गढ़
    8. शाहजहानाबाद
  • दिल्ली में स्तिथ आजादपुर मंडी एशिया की सबसे बड़ी सब्जी मंडी है।
  • दिल्ली में स्तिथ खारी बाउली एशिया की सबसे बड़ा मसालों का बाजार है।
  • दिल्ली Hamare Desh Ki Rajdhani होने के साथ साथ बहुत अधिक आबादी वाला राज्य भी है। दिल्ली की जनसंख्या लगभग 2 करोड़ है और यहां हर 1 किलो मीटर में लगभग 10,000 लोग निवास करते हैं।
  • दिल्ली 2014 का विश्व में सबसे प्रदूषित शहर था।
  • दुनिया की सबसे ऊंची ईंटों से निर्मित मीनार “कुतुब मीनार” दिल्ली में है।
  • मुगल सम्राट शाहजहाँ द्वारा 1656 में निर्मित जामा मस्जिद भारत की सबसे बड़ी मस्जिदों में से एक है जो दिल्ली मे स्तिथ है।
  • दिल्ली दुनिया का दूसरा सबसे ज्यादा आबादी वाला शहर है। प्रथम स्थान पर Tokyo है।
  • अत्यधिक जनसंख्या घनत्व होने के बाद भी दिल्ली का 20% हिस्सा वनों से घिरा हुआ है।
  • दिल्ली की साक्षरता दर 85% से भी अधिक है।
  • साल 2018-19 में दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय लगभग 4 लाख रुपए प्रति व्यक्ति थी। वो की बहुत अधिक है।

दोस्तों आज अपने इस पोस्ट मे भारत की राजधानी क्या है? Bharat Ki Rajdhani Kya Hai इस बारे मे जानकारी प्राप्त किया हैं। इसके अलावा भारत और दिल्ली के बारे मे बहुत सी जानकारी को जाना हैं। हमें आशा हैं, की आपको भारत की राजधानी की जानकारी अच्छी लगी होगी। आपको अगर यह भारत की राजधानी की जानकारी अच्छी लगी हो, तो इसे share जरूर करे। भारत की राजधानी क्या है? Bharat Ki Rajdhani Kya Hai इस पोस्ट के बारे में आपका कोई सवाल हैं, तो कॉमेंट मे बताए।

यह भी जरूर पढ़े:-
1) नेपाल की राजधानी क्या हैं? | Nepal Ki Rajdhani Kya Hai
2) बांग्लादेश की राजधानी क्या है? | Bangladesh Ki Rajdhani Kya Hai
3) अमेरिका की राजधानी क्या है? | America Ki Rajdhani Kya Hai
4) श्रीलंका की राजधानी क्या है? | Sri Lanka Ki Rajdhani Kya Hai
5) पाकिस्तान की राजधानी क्या हैं? | Pakistan Ki Rajdhani Kya Hai